भब्य कलश यात्रा के साथ रविवार को अघिना मे श्रीमद् भागवत कथा का शुभारंभ….

0
Spread the love

भब्य कलश यात्रा के साथ रविवार को अघिना मे श्रीमद् भागवत कथा का शुभारंभ….

सुरजपुर – न्यूज़29…… ग्राम पंचायत अघिनापुर में राजवाड़े परिवार की ओर से होने जा रही श्रीमद् भागवत कथा का शुभारंभ भब्य कलश यात्रा निकाल भक्त झुमे
ईस कलश शोभा यात्रा में बड़ी संख्या में महिला पुरुष बच्चे श्रद्धालु सामिल रहे । स्थानीय तालाब के पवित्र जल को 108 कलश में भरकर माथे पर रख मुख्य यजमान देवीचरण राजवाडे, फुल कुवर राजवाडे, बिहारी लाल राजवाडे राम कुमारी राजवाडे, राम नरायण राजवाडे रूकमणी देवमणी राजवाडे के नेतृत्व में हजारों की संख्या मे श्रद्धालु ढोल नगाड़े शैला नृत्य डिजे के साथ राधे राधे की धुन पर नाचते गाते चल रहे थे ।भव्य कलश यात्रा मे श्रद्धालुु ग्राम पंचायत का परिक्रमा करते हुए कथा यज्ञ स्थल पहुचे जहाँ धार्मिक विधि एवं पुजा अर्चना मंत्रोच्चार के साथ भागवत जी को स्थापित की गई । ईस अवसर पर कथा वाचक वृंदावन से पधारे आचार्य श्रीकान्त त्रिपाठी एवं उनकी सुपुत्री पूज्या शीघ्रता त्रिपाठी जी उपस्थित रहे । कथा वाचक श्रीकांत त्रिपाठी जी ने बताया कि कलश यात्रा ईसलिये करते हैं कि ग्राम मे सभी देवी देवता होते हैं उन्हें आह्वान कर बुलाने के लिए कलश यात्रा करते हैं । गांव में नदी तालाब होता है जहाँ धार्मिक कार्य होता है उस जगह पर पुजा अर्चना किया जाता है उस तालाब नदी में देवी देवता स्नान करते हैं ईसलिये वहां का जल सुद्ध मानते हैं, वहां का जल हमलोग लाते हैं वह जल सात दिन तक कलश में रहती है जिसका हम पुजन करते हैं जिसे वरूण पुजन कहते हैं । कलश यात्रा मे 33 कोटी देवी देवता स्वंम कलश में विराजमान होते हैं । जो अपने सिर पर कलश धारण करता है उसकी आत्मा को ईश्वर पवित्र ओर निर्मल करते हुए अपनी शरण में ले लेते हैं । भागवत कथा का श्रवण करने से मनुष्य के जन्म जन्मांतर के पाप नष्ट हो जाते है । भागवत कथा का श्रवण करने पुत्र सुख एवं अच्छा पुत्र की प्राप्ती होता है नि: संतान को संतान की प्राप्ति होती है धन तो है लेकिन अच्छे काम मे नही लग पा रहा है भागवत के माध्यम से धन की सुद्धता होती है जो समाज कल्याण के लिए अच्छे काम पर लगती है। लक्ष्मी का वास हो धन आये ईसलिये भागवत कराना चाहिए ।
सच्चाज्ञान भागवत जी से प्राप्त होती है भागवत जी चार शब्दों में बनी है , भक्ति ज्ञान वैराग्य तप,चारो भागवत जी मे समाये है । भागवत जी से मोक्ष की प्राप्ति होती है । कई लोगों का आकस्मिक मृत्यु हो जाती है उनकी आत्मा प्रेत योनी मे पहुंच जाते है उनको मुक्ति नही मिलती हैं भागवत कथा सुनने से आत्मा को मुक्ती मिल जाती है । ईन्ही सारी बातें को आज की भागवत कथा मे बताई गई । भागवत कथा 16 अक्टूबर से 23अक्टूबर तक चलेगी । आयोजन को लेकर पुरे ग्राम पंचायत मे हर्ष ब्यापत है । पुरा क्षेत्र भक्ति मय हो गया है । लगातार ईन क्षेत्रो में आचार्य श्री कान्त त्रिपाठी जी एवं उनकी सुपुत्री पूज्या शीघ्रता त्रिपाठी जी भागवत कथा करा रही है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

slot depo 10k
slot qris
slot spadegaming
slot pg soft
habanero slot
cq9 slot
slot garansi kekalahan bebas ip