जिला स्तरीय बाल संरक्षण इकाई की संयुक्त त्रैमासिक समीक्षा बैठक का आयोजन

0
Spread the love

जिला स्तरीय बाल संरक्षण इकाई की संयुक्त त्रैमासिक समीक्षा बैठक का आयोजन

बच्चों के अवैध प्रवास को रोकने विभाग से समन्वय कर सूचना तंत्र को मजबूत करें- कलेक्टर

सूरजपुर – न्यूज़29…… एकीकृत बाल संरक्षण योजना अंतर्गत जिला स्तरीय सलाहकार सह निरीक्षण समिति जिला स्तरीय महिला एवं बच्चों के अवैध प्रवास को रोकने संबंधी मानिटरिंग समिति तथा जिला स्तरीय टास्क फोर्स की कलेक्टर सुश्री इफ्फत आरा की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में संयुक्त समीक्षा बैठक आयोजित की गई।जिसमें सर्वप्रथम पूर्व बैठक के पालन प्रतिवेदन पर चर्चा की गई तत्पश्चात वर्तमान एजेण्डा पर बिंदुवार चर्चा की गई। महिला एवं बाल विकास जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री चंद्रबेस सिसोदिया ने संबंधित एजेंडा एवं किए जा रहे गतिविधियों की जानकारी दी तथा बाल संरक्षण से संबंधित जानकारी के लिए हेल्पलाइन नंबर 7489692746 पर जानकारी देने कहा।
कलेक्टर ने बच्चों के अवैध प्रवास को रोकने संबंधित विभाग से समन्वय कर सूचना तंत्र को मजबूत करने के निर्देश दिए जिससे बच्चों के अवैध प्रवास को रोका जा सके। उन्होंने एक युद्ध नशे के विरुद्ध जागरूकता कार्यक्रम पर चर्चा करते हुए कहा कि बच्चों को नशे के चंगुल से बचाने के लिए स्कूल, महाविद्यालय तथा हाट बाजारों में नशा मुक्ति कार्यक्रम का नियमित कार्यक्रम आयोजन करने कहा जिससे बच्चे के जीवन को बचाया जा सके।
इसी तरह बाल श्रम एवं बाल भिक्षावृत्ति की रोकथाम, बाल विवाह रोके जाने हेतु कार्य योजना बनाने, गुमशुदा एवं लापता बच्चों की खोजबीन, जिले के सीमावर्ती क्षेत्रों पर बाल श्रम हेतु मानव तस्करी रोकने पर चर्चा किया गया। उन्होंने बाल श्रमिक को रोकने हेतु रूटीन वार विभिन्न संस्थानों एवं प्रतिष्ठानों में श्रम विभाग को निरीक्षण करने के निर्देश दिए। उन्होंने बाल विवाह को रोकने के लिए विभिन्न समुदाय के लोगों को जागरूकता अभियान चलाने एवं आवश्यक जानकारी देने के लिए कहा है। कलेक्टर ने स्कूल छोड़ने वालों की रोकथाम के लिए कमजोर बच्चों के लिए परामर्श और सहायता सेवाएं प्रदान करने योजना बनाने के कहा।
कलेक्टर सुश्री आरा ने बाल विवाह रोकने, नशा उन्मूलन के लिए स्कूलों, सार्वजनिक स्थानों, बाल गृहों और सरकारी विभागों आदि में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करने निर्देशित किया तथा बेहतर क्रियान्वयन के लिए सरकारी और गैर सरकारी अधिकारियों को संवेदीकरण और क्षमता निर्माण प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करने निर्देशित किया है। उन्होंने बेहतर क्रियान्वयन एवं जानकारी के लिए विकासखंड स्तरीय बाल संरक्षण समिति की बैठक, ग्राम स्तरीय बाल संरक्षण समिति की बैठक बुलाकर बाल संरक्षण के संबंध में जानकारी देने संबंधित विभाग को निर्देशित किया। सीईओ जिला पंचायत को प्रत्येक पंचायत में पलायन पंजी व विवाह पंजी संधारित करने के निर्देश हेतु कहा।
इस दौरान जिला पंचायत सीईओ सुश्री लीना कोसम, महिला एवं बाल विकास जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री चंद्र बेस सिसोदिया, पुलिस अधीक्षक कार्यालय डीएसपी श्रीमती नंदनी ठाकुर, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर आर एस सिंह,उप संचालक समाज कल्याण विभाग श्रीमती बी तिर्की, जिला समन्वयक सर्व शिक्षा अभियान श्री शशिकांत सिंह, श्रम निरीक्षक श्री दिलेंद्र चौधरी, सहायक आयुक्त, आदिम जाति कल्याण विभाग श्री विश्वनाथ रेड्डी, मुख्य नगर पालिका अधिकारी श्री बसंत बुनकर, जिला बाल संरक्षण अधिकारी श्री मनोज जायसवाल, किशोर न्याय बोर्ड के सदस्य श्रीमती ललिता जायसवाल, बाल कल्याण समिति के सदस्य श्रीमती फरीदा खान जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सत्या, चाईल्ड लाईन समन्वयक, सामाजिक कार्यकर्ता एवं विभाग के कर्मचारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

slot depo 10k
slot qris
slot spadegaming
slot pg soft
habanero slot
cq9 slot
slot garansi kekalahan bebas ip