आमरण अनशन एवं भूख हड़ताल को मजबूर हुए संविदा कर्मी सैकड़ो संविदा कर्मियों ने गवाई कोरोना काल मे अपनी जान- नही मिल पाई उनके परिवार को न्याय

0
Spread the love

सूरजपुर छ0ग0 सर्व विभागीय संविदा कर्मचारी महासंघ के बैनर तले जिले के सर्व संविदा कर्मचारी और अधिकारी 3 जुलाई 2023 से हड़ताल पर हैं। कर्मचारी संघ की एक ही मांग नियमितीकरण है। अधिकारी कर्मचारियों के हड़ताल का आज चौथा दिन है जिससे जिले में 54 विभागों का कार्य प्रभावित होने का अनुमान है। प्रतिदिन जिले में हजारों लोगों को शासन का लाभ एवं रोजगार मिलता था, लेकिन हड़ताल के चलते कार्य पूरी तरह से बंद है।
जिला संयोजक ज्ञानेंद्र सिंह ने बताया कि “कांग्रेस सरकार द्वारा अपने घोषणा पत्र में यह वादा किया गया था कि हमारी सरकार बनते ही 10 दिन में सभी संविदा कर्मचारियों को नियमित कर दिया जाएगा. सत्ता में आने के बाद अब साढ़े 4 साल बीत जाने के बाद भी संविदा कर्मचारी को नियमित नहीं किया गया है। जिला संयोजक ने बताया कि आज 6 जुलाई को 51 साथियो के द्वारा घोषणा पत्र की याद दिलाने के लिये कर्मचारियों के द्वारा एक दिवसीय आमरण अनशन/भूख हड़ताल किया जा रहा है। सरकार फिर भी नही मानी तो अनिश्चितकालीन आमरण अनशन/भूख हड़ताल किया जावेगा।

जब प्रदेश में था रोजगार का संकट तब इन्हीं संविदाकर्मी ने थामे रखा प्रदेश की नब्ज _ कोरोना कर्मी
सर्व संविदा कर्मचारी महासंघ के जिला मीडिया प्रभारी गणेश यादव ने संविदा कर्मचारियों का व्यथा सुनाते हुए कहा कोरोनाकाल में हमारे सैकड़ों संविदा कर्मचारियों ने सेवा करते जान गवाई, इनके परिवार आज भी न्याय के इंतजार में है, कोराेना काल में जब कोई भी सामने नहीं आ रहा था उस संकट के दौर में भी हमारे संविदा कर्मचारियों ने प्रदेश की नब्ज थामी थी । एक ओर स्वास्थ्य विभाग में संविदा में कार्यरत तमाम संविदा कर्मचारियों ने अपनी जान जोखिम में डालकर अपना कर्म किया वहीं पंचायत विभाग में कार्यरत मनरेगा कर्मचारियों ने गांव-गांव में रोजगार देने के लिए लगे हुए थे और प्रदेश में रोजगार देने में पहला स्थान का महारत हासिल किए। कांटेक्ट ट्रेसिंग में अन्य सभी संविदा कर्मचारी की ड्यूटी भी लगी। इस दौरान सैकड़ों साथियों ने जान गवाई।
छत्तीसगढ़ सर्व विभागीय संविदा कर्मचारी महासंघ के जिला संयोजक ज्ञानेंद्र सिंह ने बताया कि इन संविदा कर्मचारियों के समर्पण , त्याग और बलिदान का भी सम्मान नहीं मिला। राष्ट्रीय स्तर पर कोरोना काल में बेहतर काम के लिए सरकार ने जरूर वाह वाही बटोर ली, महासंघ के कार्यकारी जिला अध्यक्ष बृजलाल पटेल ने बताया कि कोरोना काल में सेवा देते हुए शहीद कर्मचारियों के परिवार को आज भी न्याय की दरकार है। किसी भी प्रकार का सम्मानजनक न अनुदान दिया गया और न ही परिवार को सामाजिक सुरक्षा प्रदान की गई है। हम उन साथियों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाने देंगे।
महासंघ के महिला प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष मिली रानी कर एवं मनरेगा संघ के जिलाध्यक्ष सुनील गुप्ता व जिला प्रवक्ता तोपान सिंह दायमा, मनोज जायसवाल का कहना है कि स्वास्थ्य विभाग में वैश्विक महामारी में हम लोग अपने जान जोखिम डाल कर निस्वार्थ भाव से प्राणों का परवाह किये बिना फ्रंट लाइन वर्कर के रूप कार्य किये, पंचायत विभाग के कर्मचारियों द्वारा ग्रामीण मजदूरों को गांव में काम देने के लिए हमारे 100 से अधिक रोजगार सहायक साथी बलिदान हुए। उनका परिवार आज भी न्याय की आश लगाए हुए हैं।
रैली का आयोजन
छत्तीसगढ़ सर्व विभागीय संविदा जिला कार्यकारी अध्यक्ष ने बताया कि 7 जुलाई 2023 समय दोपहर 1 बजे से केतका रोड़ रंगमंच मैदान से कार्यालय कलेक्ट्रेट तक विशाल रैली निकालकर मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर को लाल अक्षर में लिखी हुई ज्ञापन सौपा जायेगा।
कार्यक्रम में आज जिला प्रवक्ता तोपान सिंह दायमा, संदीप नाम देव, राजेश दिवेदी, सखन राम आयाम,कार्यक्रम अधिकारी प्रेमसाय पैकरा, निर्मल सिंह श्याम, महेंद्र कुशवाहा, शैलेंद्र जयसवाल, सुनील मिश्रा, शेषनारायण, राकेश कुमार चतुर्वेदी, संजय जायसवाल, प्रवीण ठाकुर, लव सिंह मरावी, संतोष, देवानंद, अंजना कुजूर, प्रदीप गुप्ता, विवेक गुप्ता, कुलदीप, संगीता, रविकरण सिंह, अंजली, लक्ष्मि, संजय साह, जसवंत दास एवं अन्य कर्मचारी अधिकारी सम्मिलित थे।
contact 7509006294,8120146446

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

slot depo 10k
slot qris
slot spadegaming
slot pg soft
habanero slot
cq9 slot
slot garansi kekalahan bebas ip