समय सीमा पर हो मुख्यमंत्री द्वारा जिले में किए गए घोषणाओं का सफल क्रियान्वयन – कलेक्टर -15 अगस्त, ’’स्वतंत्रता दिवस’’ की तैयारी के लिए हुआ कार्य विभाजन -छत्तीसगढ़िया ओलंपिक प्रतिभागियों की जानकारी निश्चित फॉर्मेट में करें संग्रहित -मुख्यमंत्री जतन योजना के तहत चलने वाले कार्य में ठेकेदार सुरक्षा व्यवस्था का रखें ध्यान समय-सीमा की बैठक सम्पन्न

0
Spread the love

सूरजपुर कलेक्टर संजय अग्रवाल ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा जिले में प्रवास तथा भेंट-मुलाकात के दौरान की कई घोषणाएं की गई हैं जिनका सफल क्रियावयन सभी संबंधित विभागों को गंभीरतापूर्वक करना है। यह कार्य निश्चित समय सीमा में हो इसके लिए अधिकारी मुख्यमंत्री की घोषणाओं को प्राथमिकता दें। घोषणा के अनुरूप जिन कार्यों के लिए स्वीकृति प्राप्त हो चुका है, उन कार्यों को तत्काल शुरू कराएं। कलेक्टर ने आज जिला कलेक्टोरेट स्थित सभाकक्ष में आयोजित समय-सीमा की बैठक में संबंधित अधिकारियों को मुख्यमंत्री घोषणाओं के सफल क्रियान्वयन के लिये निर्देशित किया।

15 अगस्त, स्वतंत्रता दिवस की तैयारी के लिए हुआ कार्य विभाजन- बैठक में कलेक्टर ने उपस्थित अधिकारियों को 15 अगस्त ’’स्वतंत्रता दिवस’’ की तैयारियों के संबंध में आवश्यक दिशा निर्देश दिए। उन्होंने समारोह स्थल पर सभी कार्य सफलतापूर्वक निष्पादित हो इसके लिए संबंधित अधिकारियों के बीच कार्य विभाजन भी किया। उन्होंने बताया कि 1 अगस्त से ही परेड की रिहर्सल शुरू हो जाएगी और 13 अगस्त को सुबह 9ः00 बजे फाइनल रिहर्सल की जाएगी। इससे पूर्व ही सभी तैयारियां सुनियोजित तरीके से हो इसके लिए कलेक्टर ने संबंधित अधिकारीयों को, उन्हें दिये गए दायित्वों का निर्वहन जिम्मेदारी पूर्वक करने की बात कहीं। 15 अगस्त के दिन शहीद परिवार के सदस्य भी अपनी उपस्थिति दर्ज करेंगे, जिसके लिए उन्होंने पुलिस विभाग को इसकी जिम्मेदारी सौंपी।
जनपद, तहसील स्तर और जिला मुख्यालय के साथ-साथ इस बार ध्वजारोहण गौठानों, रिपा व अमृतसर सरोवर स्थल में भी होना है।
छत्तीसगढ़िया ओलंपिक प्रतिभागियों की जानकारी निश्चित फॉर्मेट में करें संग्रहित- बैठक में कलेक्टर छत्तीसगढ़िया ओलंपिक के सभी खिलाड़ियों से उनका मान्य पहचान प्रमाण पत्र,बैंक खाते की जानकारी के साथ साथ उनसे संबंधित वांछित जानकारी एक निश्चित फॉर्मेट में संग्रहण करने के निर्देश खेल अधिकारी को दिए ताकि खिलाड़ियों की राशि बिना किसी दिक्कत के उनके खाते में प्राप्त हो। लगभग 2 माह 10 दिन तक चलने वाले यह खेल प्रतियोगिता 6 चरणों में आयोजित होगी। जिसमें राज्य स्तरीय प्रतियोगिताओं के आयोजन के उपरांत विजेता प्रतिभागी-दलों को राज्य स्तरीय छत्तीसगढ़िया ओलम्पिक के अंतिम दिवस के अवसर पर पुरस्कार राशि का वितरण किया जाएगा, जिसमें विकासखण्ड-नगरीय निकाय स्तर पर प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले प्रतिभागी-दलों को 1000 रूपए, द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले प्रतिभागी-दलों को 750 रूपए, तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले प्रतिभागी-दलों को 500 रूपए, जिला स्तर पर प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले प्रतिभागी-दलों को 2000 रूपए, द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले प्रतिभागी-दलों को 1500 रूपए, तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले प्रतिभागी-दलों को 1000 रूपए प्रदान किया जाएगा।
मुख्यमंत्री जतन योजना के तहत चलने वाले कार्य में ठेकेदार सुरक्षा व्यवस्था का रखें ध्यान- इसके अलावा कलेक्टर ने मुख्यमंत्री जतन योजना पर भी चर्चा की। उन्होंने उपस्थित संबंधित अधिकारियों को स्पष्ट रूप से निर्देशित किया कि मुख्यमंत्री जतन योजना के तहत जिन जिन स्कूलों में वर्तमान में कार्य चल रहा है उन स्कूलों के ठेकेदारों को सुरक्षा व्यवस्था को प्राथमिकता देने के लिए निर्देशित किया जाए। इसके साथ ही स्कूलों में होने वाले जीर्णाेद्धार कार्य को छुट्टियों के दिन कार योजना बनाकर संपादित करने का कार्य किया जाए ताकि विद्यार्थियों की अनुपस्थिति में दुर्घटना होने की संभावना कम से कम बनी रहे।
गौठानों में सुचारू रूप से गोबर खरीदी करने के दिए निर्देश- कलेक्टर ने गोधन न्याय योजना की समीक्षा करते हुए कहा कि जिले के सभी सक्रिय गौठानों में सुचारू रूप से गोबर खरीदी और खरीदे गए गोबर को शासन द्वारा निर्धारित अनुपात में वर्मी कम्पोस्ट में कनवर्जेंश करने के निर्देश दिए।
बैठक में जिला पंचायत सीईओ लीना कोसम, संयुक्त कलेक्टर नरेन्द्र पैकरा, डॉ. प्रियंका वर्मा, एसडीएम नंदजी पांडे, सीएमएचओ डॉ. आर.एस.सिंह, सहित अन्य विभागीय जिला अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

slot depo 10k
slot qris
slot spadegaming
slot pg soft
habanero slot
cq9 slot
slot garansi kekalahan bebas ip