*सफलता की कहानी गायत्री महिला स्व. सहायता समूह गौमूत्र उत्पादों से कर रही हजारों की कमाई*

0
Spread the love

*सफलता की कहानी*
*गायत्री महिला स्व. सहायता समूह गौमूत्र उत्पादों से कर रही हजारों की कमाई*

*सूरजपुर – न्यूज़29*…… छत्तीसगढ़ शासन की महत्वाकांशी योजना नरवा, गरुवा, घुरुवा, बाड़ी योजनान्तर्गत गौमूत्र क्रय एवं इससे निर्मित उत्पाद से कृषकों की आय में वृद्धि किया जा रहा है। विदित हो कि जिला सूरजपुर के केशवनगर गौठान में इसकी शुरूवात 20 जुलाई 2022 को गौमूत्र क्रय प्रारंभ हो चुका है एवं स्व. सहायता समूह की महिलायें हजारों रूपये की आमदनी अर्जित कर रही है, जो कि जिले के लिए एक नई एवं प्रेरणादायक पहल है। क्रय गौमूत्र से जीवामृत एवं कीटनाशक ब्रम्हास्त्र बनाया जा रहा है। वरिष्ठ पशु चिकित्सा सहायक शल्यज्ञ डॉ. महेन्द्र कुमार पाण्डेय, प्रभारी पशु चिकित्सालय विश्रामपुर द्वारा जानकारी दी गई। स्व सहायता समूह आपके ही मार्गदर्शन में उक्त नवाचार का कार्य कर अतिरिक्त आय का अर्जन कर रही है। डॉ. पाण्डेय ने बताया कि गौमूत्र से जीवामृत एवं ब्रम्हास्त्र किट नियंत्रक भी बनाया जा रहा है। 05 सितम्बर 2022 तक केशवनगर गौठान से कुल 140 लीटर गौमूत्र क्रय किया जा चुका है। जिससे 120 लीटर गौमूत्र से 750 लीटर जीवामृत अमृतवर्धक एवं 07 लीटर कीट नियंत्रक ब्रम्हास्त्र का निर्माण किया गया है। जिसमें 120 लीटर गौमूत्र का लागत रू. 560 एवं रू. 500 का सामाग्री क्रय पश्चात् कुल लागत रू. 1060 आया है। जिसके माध्यम से 75 लीटर जीवामृत वृद्धिवर्धक एवं 60 लीटर ब्रम्हास्त्र कीट नियंत्रक निर्मित किया जा चुका है। जिनके विक्रय से रू. 4000 प्राप्त हुआ है। इस प्रकार कुल लागत निकालकर स्व सहायता समूह को अब तक रू. 2940 का अतिरिक्त आय प्राप्त हुआ है, जो कि जिला सूरजपुर की अन्य महिलाओं के लिए इस कार्य के प्रति रूची एवं प्रेरणादायी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

slot depo 10k
slot qris
slot spadegaming
slot pg soft
habanero slot
cq9 slot
slot garansi kekalahan bebas ip