आगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने 14 दिनो से धरने पर बैठ आज 14 दिनो बाद सुरजपुर एस डी एम को मुख्यमंत्री के नाम त्रस्त हो कर ज्ञापन सौंपा

0
Spread the love

*आगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने 14 दिनो से धरने पर बैठ आज 14 दिनो बाद सुरजपुर एस डी एम को मुख्यमंत्री के नाम त्रस्त हो कर ज्ञापन सौंपा* ..?

*सूरजपुर – न्यूज़29*….. आज आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं एव सहायिकाओं ने रैली निकाल कर प्रदर्शन किया,, दरअसल सूरजपुर के आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका बीते 14 दिनों से धरने पर बैठी हुई थी।

जहा नियमितीकरण और वेतन बढ़ाने समेत विभिन्न मांगों को लेकर हड़ताल में थे,
ऐसे ही आज सैकड़ों प्रदर्शनकारियों ने नगर में रैली निकाल कर कलेक्टर कार्यालय पहुच मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम को ज्ञापन सौंपा।
जहा प्रदर्शनकारियों का कहना है कि मुख्यमंत्री ने अबनी चुनावी घोषणा पत्र में नियमितीकरण कारण समेत कई घोषणाऐ किये थे ।
जो अब तक पूरे नही किये गये तथा मांग पूरी नही होने पर पुरे आगनबाड़ी कार्यकर्ता रायपुर मेंजाकर प्रदर्शन करने मे बाध्य रहेगे, इसकी संपूर्ण जिम्मेदारी सी एम भुपेश सरकार की रहेगी।

वही चंदा राजवाड़े ने बताया कि हम शासन की योजनाओं को जन जन तक पहुंचाते हैं सुबह 9:00 बजे से लेकर 2:00 बजे तक शासन की योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने का कार्य करते है।
और बच्चों को पढ़ाने के अलावा जितनी भी योजनाएं शासन द्वारा मिलती है उन सब का क्रियान्वयन करते हैं, ताकी जन-जन तक सरकार की योजनाओ का पता चले।
उसके बाद भी हमें मात्र 6000 रूपये बेतन मिलता है।
छत्तीसगढ़ शासन ने चुनाव से पहले वादा किया था कि आंगनवाड़ी कार्यकर्ता को कलेक्टर दर के आधार पर पैसा दिया जाएगा 4 साल बीत जाने के बाद भी अब तक हमें कलेक्टर दर में शामिल नहीं किया गया है, नाही सरकार कोई पहल की ।

सरकार हमे नियमितीकरण ना करें तो कम से कम कलेक्टर दर पर भुगतान करें ताकि हम अपने बाल बच्चों का भरण पोषण अच्छे से कर सकें।

श्याम पति देवांगन का कहना है कि हमें शासन द्वारा इतना कम राशी की भुगतान कराया जा रहा है की जिससे हमारे घर की रोजी रोटी नहीं चल पाती है और इतना कम भुगतान होने से हमें अपने भविष्य की चिंता भी सताती रहती है ,
वही श्याम पति देवांगन का कहना है कि हमने ऐसे कई सारे आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को देखा है जो रिटायरमेंट के बाद इनकी स्थिति बहुत खराब है क्योंकि रिटायरमेंट के बाद उन्हें कोई पूछने वाला नहीं रहता है पूरी जिंदगी शासन की सेवा करने के बाद अब उनकी सुख-दुख लेने वाला कोई नहीं रहता है।

जिसे देखकर हम लोग भी परेशान रहते हैं कि जब तक काम करेंगे तब तक ही पैसा मिलेगा और रिटायर होने के बाद पैसा नहीं मिलेगा कम से कम शासन से गुजारिश है कि इतना पैसा हमें दें ताकि हम उस पैसे में से कुछ पैसा बचा कर अपने बुढ़ापे का सहारा बनालेवें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

slot depo 10k
slot qris
slot spadegaming
slot pg soft
habanero slot
cq9 slot
slot garansi kekalahan bebas ip