सुशासन सप्ताह प्रशासन गांव की ओर के तहत प्रेमनगर ब्लॉक के ग्राम पंचायत कोटेया में हुआ जिला स्तरीय जनसमस्या निवारण शिविर का आयोजन* *सरगुजा क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष खेलसाय सिंह हुए शामिल, गांव में शिविर लगाकर समस्याओं के निराकरण होने पर जिला प्रशासन को सराहा*..३. *जनहानि के तहत मृतक के परिजनों को चार-चार लाख रुपए चेक का किया वितरण*

0
Spread the love

*सुशासन सप्ताह प्रशासन गांव की ओर के तहत प्रेमनगर ब्लॉक के ग्राम पंचायत कोटेया में हुआ जिला स्तरीय जनसमस्या निवारण शिविर का आयोजन*

*सरगुजा क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष खेलसाय सिंह हुए शामिल, गांव में शिविर लगाकर समस्याओं के निराकरण होने पर जिला प्रशासन को सराहा*..३.

*जनहानि के तहत मृतक के परिजनों को चार-चार लाख रुपए चेक का किया वितरण*

*सूरजपुर – न्यूज़29*…… कलेक्टर इफ्फत आरा के अगुवाई में जिला प्रशासन की पूरी टीम विकासखंड प्रेमनगर के दूरस्थ क्षेत्र ग्राम कोटेया में सुशासन सप्ताह प्रशासन गांव की ओर के तहत जिला स्तरीय जनसमस्या निवारण शिविर आयोजन किया गया। शिविर शिविर का आयोजन कर क्षेत्र के ग्रामीणों के विभिन्न मांग, शिकायत, समस्याओं के प्राप्त आवेदन का अवलोकन कर एवं लोगों से आपसी संवाद कर ग्रामीण जनों की बातों को सुने एवं आवेदनों का त्वरित निराकरण किया गया एवं शेष बचे कार्यों को समय अवधि में निराकरण करने कलेक्टर ने विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया। आसपास के आश्रित ग्राम के लोग भी शिविर में पहुंचे। शिविर में क्षेत्रीय विधायक एवं सरगुजा क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष खेल साय सिंह, जिला पंचायत, जनपद सदस्य, नगर पंचायत, सरपंच एवं स्थानीय प्रतिनिधि गण जिला स्तरीय जन समस्या निवारण शिविर में शामिल हुए। शिविर का शुभारंभ क्षेत्रीय विधायक खेलसाय सिंह एवं स्थानीय प्रतिनिधियों द्वारा छत्तीसगढ़ महतारी के छायाचित्र पर दीप प्रज्वलन एवं माल्यार्पण पश्चात राजगीत के साथ प्रारंभ हुआ।
सरगुजा क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष खेल साय सिंह ने शिविर में आए ग्रामीण जनों को संबोधित करते हुए कहा कि जन समस्या निवारण शिविर का आयोजन कर समस्याओं का निराकरण करना अच्छी बात है जिससे आप सभी को सूरजपुर जिला मुख्यालय जाना नहीं पड़ता। जिला प्रशासन आपके द्वार पहुंचकर विभिन्न मांगों, शिकायतों एवं समस्याओं का निराकरण नियमानुसार कर रहा है। उन्होंने जिला प्रशासन को दूरस्थ क्षेत्र में पहुंचकर समस्याओं का निराकरण पर बधाई देकर सराहना की तथा निरंतर ऐसे ही शिविर लगाकर आम लोगों के समस्याओं का निराकरण करने आग्रह किया। उन्होंने कहा कि ग्राम कोटेयाजिले के दूरस्थ क्षेत्र में स्थित है और यहां से जिला मुख्यालय दूर है लोगों को जिला मुख्यालय जाने में परेशानी होता है इसलिए जिले के सभी विभाग के आला अधिकारी आपके बीच आए हैं और विभागों द्वारा स्टॉल लगाकर आपकी समस्याओं का निराकरण किया जा रहा है ताकि आप लोगों को वहां जाना ना पड़े। उन्होंने कहा कि राज्य शासन विभिन्न योजनाओं के माध्यम से सभी वर्ग के लोगों के लिए कल्याणकारी योजनाएं संचालित कर रही है उसका लाभ संबंधित हितग्राही को लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि बहुत सारी समस्याओं का निराकरण ऑन द स्पॉट हुआ है अच्छी बात है तथा शेष बचे है उन्हें समय अवधि में निराकरण करने कहा है जिससे ग्रामीण जनों को परेशानी ना हो।
प्राधिकरण अध्यक्ष ने कहा कि क्षेत्र के विकास के लिए शिक्षा, पानी व्यवस्था, बिजली, सड़क, स्वास्थ्य सहित अन्य क्षेत्रों में किए जा रहे हैं और क्षेत्र के विकास के लिए बहुत सारे कार्य स्वीकृत किए गए हैं। पहले इस क्षेत्र में सड़क एवं पुल पुलिया नहीं था सड़क एवं पुल पुलिया बन जाने से दूरस्थ क्षेत्र में भी आवागमन बेहतर हो गया है जिससे ग्रामीण जन आसानी से यहां से वहां समय पर आना जाना कर रहे हैं। राज्य शासन द्वारा स्थानीय लोगों को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए गौठान, गोधन न्याय योजना , रिपा कार्यक्रम के तहत लोगों के स्वावलंबी बनाने के लिए राज्य सरकार निरंतर कार्य कर रही है। राज्य में धान खरीदी तेजी से चल रहा है किसानों को धान का भुगतान समय में किया जा रहा है।
कलेक्टर इफ्फत आरा ने प्राप्त आवेदनों का अवलोकन एवं उपस्थित गांव के लोगों से चर्चा कर ग्रामीण जनों के विभिन्न मांगों, शिकायतों, समस्याओं से रूबरू होकर कहा कि शिविर में आकर समस्याओं नजदीक से देखने का अवसर मिलता है। इसलिए हमारा प्रयास है की दूरस्थ क्षेत्र स्थित ग्राम में शिविर लगाकर समस्याओं का निराकरण करें। ताकि आपको किसी प्रकार की परेशानी ना हो।उन्होंने ग्रामीण जनों को विश्वास दिलाया कि संभावित आवेदनों का तत्काल निराकरण किया गया है जो शेष है उस पर आवश्यक जांच एवं कार्रवाई कर उन्हें भी निराकरण किया जाएगा। उन्होंने सभी विभाग के अधिकारियों को प्राप्त शेष आवेदनों का समय सीमा में निराकरण में करने निर्देश दिए है। उन्होंने कहा कुछ शिकायत के आवेदन प्राप्त हुए हैं जांच कर निराकरण किया जाएगा। इसके लिए आप सभी के सहयोग एवं भागीदारी आवश्यक है। सड़क, पानी, स्वास्थ्य एवं शिक्षा, राशन कार्ड, आयुष्मान कार्ड, तेंदूपत्ता राशि वितरण, मुआवजा राशि, आधार कार्ड बनाने, जाति निवास प्रमाण पत्र बनाने, राजस्व प्रकरण की आवेदन प्राप्त हुए हैं उनका निराकरण किया जाएगा। उन्होंने शासन की योजनाओं का लाभ लेने आग्रह किया।
जिला पंचायत उपाध्यक्ष नरेश राजवाड़े, छत्तीसगढ़ राज्य उर्दू बोर्ड के सदस्य इस्माइल खान, जिला पंचायत सदस्य उषा सिंह, कुलदीप बिहारी, जनपद उपाध्यक्ष तुलसी यादव, नगर पंचायत अध्यक्ष श्रृंगारो बाई, राजीव गांधी युवा मितान क्लब के विधानसभा अध्यक्ष परमेश्वर यादव,ने कार्यक्रम को संबोधित किया एवं जिला प्रशासन को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि क्षेत्र की जनता के माध्यम से विभिन्न आवेदन प्राप्त हुए हैं कुछ का त्वरित निराकरण किया गया है तथा शेष बचे आवेदनों को निराकरण करने कहा गया। सभी ने समय-समय पर समस्याओं के निराकरण के लिए शिविर का आयोजन करने के लिए निवेदन किया जिससे दूरस्थ क्षेत्र के लोगों को जिला मुख्यालय जाना ना पड़े। इस दौरान कृषि उपज मंडी उपाध्यक्ष राजीव सिंह, जिला पंचायत सदस्य उषा सिंह, विधायक प्रतिनिधि परमेश्वर यादव, नगर पंचायत उपाध्यक्ष आलोक साहू, जनपद उपाध्यक्ष तुलसी यादव, सरपंचगण, एसडीएम उत्तम प्रसाद रजक, स्थानीय प्रतिनिधि गण एवं सभी विभाग के अधिकारी कर्मचारी सहित भारी संख्या में ग्रामीण जन उपस्थित थे।
जनहानि के तहत मृतक के परिजनों को चार-चार लाख रुपए चेक का किया वितरण
क्षेत्रीय विधायक एवं सरगुजा क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष खेल साय सिंह, कलेक्टर, प्रतिनिधियों ने चार विभिन्न प्राकृतिक आपदा से मृत हुए निकटतम वारिस के परिजनों को जनहानि के तहत चार चार लाख रुपए का चेक प्रदान किया। इसी तरह स्कूली छात्रों को जाति प्रमाण पत्र का वितरण किया। साथ ही आयुष्मान कार्ड, परिवार सहायता राशि, किसान किताब, वन अधिकार पत्र, बैकयार्ड कुक्कुट, निशुल्क, गेहूं, दलहन मसूर मिनीकिट, पौधा, दिव्यांग के लिए ट्राई साइकिल तथा बिहान योजना के तहत बैंक सखियों को लैपटॉप, संजीवनी महिला स्व सहायता समूह कोटेया को एक लाख रूपए का चेक वितरण किया ।
कार्यक्रम में महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा गर्भवती एवं शिशुवती माताओं को गोद भराई एव अन्नप्राशन कार्यक्रम आयोजित किया गया। विधायक, कलेक्टर एवं जन प्रतिनिधियों ने ग्राम बकिरमा के 10 गर्भवती माताओं को चूड़ी, बुंदी, गुड़, चना, फलीदाना, रेडी टू ईट तथा मूंनगा भाजी से भरी पौष्टिक आहार की टोकरी देकर गोद भराई की तथा ग्राम बाक़ीरमा के 10 बच्चों को अन्नप्रासन के तहत बच्चों को चम्मच से खीर खिलाई। इस दौरान नोनी सुरक्षा योजना के तहत चेक प्रदान किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

slot depo 10k
slot qris
slot spadegaming
slot pg soft
habanero slot
cq9 slot
slot garansi kekalahan bebas ip